hamarakasba

हमीरपुर – राजकीय नलकूप मस्त और किसान पस्त है। जिला हमीरपुर (Hamirpur) गांव चंडौत में नलकूप सालों से बंद पड़े हुए है यहाँ के ऑपरेटरों ने अपने – अपने नलकूपों की ताला चाभी क्षेत्र के गरीब किसानों और गरीब गांव वालों के ऊपर थोप दी है। नलकूप ना चला पाने के कारण हर साल कम से कम 15 – 30 किसानों की मौत हो जाती है , आखिर इन गरीब किसान और गरीब गांव वालों की मौत का ज़िम्मेदार कौन?

ऐसा ही एक मामला सरीला तहसील के चंडौत गांव का है जहाँ पर शंकर निषाद जो की एक गांव का छोटा और गरीब किसान है अपने परिवार का पालन – पोषण करने के लिए उसने अपने खेत में सब्ज़ियां बोई है , प्राइवेट टूबवेल बंद होने से सिचाई की बहुत ज्यादा दिक्कत हो रही है जबकि शंकर निषाद के खेत के पास सरकारी टूबवेल (54 नंबर ) लगा हुआ है जिसका ऑपरेटर सुरेंद्र निगम है जो अधिकारियों की सांठ – गाँठ से अपनी ही दूकान चलाने में मस्त है। जिस वजह से नलकूप करीब 2 वर्ष से बंद पड़ा हुआ है शंकर निषाद ने कई बार अपनी नलकूप की शिकायत के लिए जिला प्रशासन से गुहार लगाई , सांठ – गाँठ के चलते कोई सुनवाई नहीं हुई ,जिस वजह से शिकायत का निस्तारण ना होने के कारण शंकर निषाद ने सीएम हेल्पलाइन नंबर -1076 पर भी शिकायत की , जिसपर अधिकारियों ने फ़र्ज़ी निस्तारण कर दिया और दिखा दिया कि टूबवेल चल रहा है। मुख्यमंत्री जी से आग्रह है कि ऐसे बृहष्ट नौकरों को तुरंत उनकी सरकारी ज़िम्मेदारी से बर्खास्त किया जाए , जिससे कि सरकार कि छवि खराब ना हो। और उन गरीब गांव वालों को न्याय मिल सके।

Online Play Matka App

Play Matka online

Seo Company in Lucknow

Free Ad Post Site in India

About Author

1 Comment

  • Bulk sms in lucknow

    1 month ago / August 20, 2021 @ 3:27 pm

    Nice

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *